स्थिरता के मोर्चे पर, जब लेनदेन की बात आती है तो डिजिटल मुद्राएं स्थिर और प्रबंधन में आसान होती हैं क्योंकि उन्हें वैश्विक बाजार में व्यापक रूप से स्वीकार किया जाता है. दूसरी ओर, क्रिप्टो बहुत अस्थिर है और दरें लगभग नियमित रूप से बढ़ती और गिरती हैं.

इलेक्ट्रॉनिक इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा व्यापार मुद्रा व्यापार

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा व्यापार भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

डिजिटल करेंसी शुरू करने वाली दुनिया की पहली प्रमुख अर्थव्यवस्था बनने जा रहा चीन

China is all set to be the first digital currency operated by a major economy, starts major trial of state run digital currency

दुनिया को कोरोना वायरस महामारी देकर चौतरफा आलोचना झेल रहा चीन अब बड़े बदलाव की ओर है। अगले हफ्ते से यह देश अपने चार प्रमुख शहरों में डिजिटल करेंसी में भुगतान करने जा रहा है। बीते महीनों में, चीन के केंद्रीय बैंक ने ई-रॅन्मिन्बी (चीनी मुद्रा का इलेक्ट्रॉनिक रूप) को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए, अगर यह प्रयोग सफल रहा तो दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में से एक चीन डिजिटल मुद्रा संचालित करने वाला पहला देश होगा। बीते महीनों में, चीन के केंद्रीय बैंक ने ई-रॅन्मिन्बी (चीनी मुद्रा का इलेक्ट्रॉनिक रूप) को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए, अगर यह प्रयोग सफल रहा तो दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में से एक चीन डिजिटल मुद्रा संचालित करने वाला पहला देश होगा। वैसे बीजिंग लंबे समय से चाहता था कि चीन की करेंसी रॅन्मिन्बी का अंतरराष्ट्रीय व्यापार और फाइनेंस में अधिक उपयोग हो।

विस्तार

दुनिया को कोरोना वायरस महामारी देकर चौतरफा आलोचना झेल रहा चीन अब बड़े बदलाव की ओर है। अगले हफ्ते से यह देश अपने चार प्रमुख शहरों में डिजिटल करेंसी में भुगतान करने जा रहा है। बीते महीनों में, चीन के केंद्रीय बैंक ने ई-रॅन्मिन्बी (चीनी मुद्रा का इलेक्ट्रॉनिक रूप) को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए, अगर यह प्रयोग सफल रहा तो दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में से एक चीन डिजिटल मुद्रा संचालित करने वाला पहला देश होगा। बीते महीनों में, चीन के केंद्रीय बैंक ने ई-रॅन्मिन्बी (चीनी मुद्रा का इलेक्ट्रॉनिक रूप) को बढ़ावा देने के लिए कई कदम उठाए, अगर यह प्रयोग सफल रहा तो दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में से एक चीन डिजिटल मुद्रा संचालित करने वाला पहला देश होगा। वैसे बीजिंग लंबे समय से चाहता था कि चीन की करेंसी रॅन्मिन्बी का अंतरराष्ट्रीय व्यापार और फाइनेंस में अधिक उपयोग हो।

शेन्जेन, सूजौ, चेंग्दू के साथ बीजिंग के दक्षिण में बसाया गया नए शहर शिआंगॉन में ट्रायल के रूप में डिजिटल मुद्रा की शुरुआत होने वाली है। साथ ही साथ 2022 के बीजिंग शीतकालीन ओलंपिक को देखते हुए सरकार ने अपनी कमर कस ली है। चीन की स्थानीय मीडिया की माने तो मई से ही चारों शहरों के कुछ सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को डिजिटल मुद्रा में वेतन मिलना शुरू हो जाएगा।

ई-करेंसी से मनी लॉन्ड्रिंग और टेरर फंडिंग थमेगी?

पीकिंग विश्वविद्यालय के राष्ट्रीय विकास अनुसंधान संस्थान के एसोसिएट प्रोफेसर जू युआन ने ब्रॉडकास्टर सीसीटीवी को बताया कि क्योंकि नकद लेनदेन ऑफलाइन था और मौजूदा भुगतान प्लेटफॉर्मों से लेनदेन का आंकड़ा बेहद उलझा और बिखरा हुआ था, इसलिए केंद्रीय बैंक नकदी प्रवाह की निगरानी करने में असमर्थ था। दूसरी मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो चीन की इस डिजिटल भुगतान प्रणाली के उपयोग से मनी लॉन्ड्रिंग, जुआ और टेरर फंडिंग से निपटने में मदद मिलेगी।

इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा विकसित करने वाले पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना के डिजिटल मुद्रा अनुसंधान संस्थान ने 17 अप्रैल को बताया था कि, 'डिजिटल रॅन्मिन्बी पर तेजी से काम हो रहा है और शीर्ष स्तर का डिजाइन, रिसर्च का काम पूरा हो चुका है, हालांकि केंद्रीय बैंक पर्यवेक्षण भविष्य के हिसाब से वित्त, भुगतान, व्यापार को अलग-अलग लिहाज से देखते हुए उपयोगकर्ता के लिए थोड़ा और बदलाव करना चाहता है।

Crypto Vs Digital Currency: क्रिप्टो करेंसी और डिजिटल करेंसी में इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा व्यापार क्या हैं अंतर, समझें यहां

Published Date: February 2, 2022 3:45 PM IST

Crypto Vs Digital Currency: क्रिप्टो करेंसी और डिजिटल करेंसी में क्या हैं अंतर, समझें यहां

Crypto Vs Digital Currency: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा व्यापार अपने बजट 2022-2023 के भाषण के दौरान घोषणा की कि डिजिटल संपत्ति (Digital Assets), जिसमें क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) और एनएफटी (NFT) शामिल हैं, उनके हस्तांतरण से किसी भी आय पर 30 प्रतिशत टैक्स लगाया जाएगा. वित्त मंत्री की घोषणा ने अधिकांश क्रिप्टो और एनएफटी निवेशकों को अपनी संपत्ति के भविष्य के बारे में सोचने पर मजबूर कर दिया, लेकिन कइयों ने इसे ज्यादातर सकारात्मक घोषणा के तौर पर लिया. उनका कहना है कि किसी भी तरह का टैक्स लगाने का मतलब है कि देश में क्रिप्टोकरेंसी पर प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा, हालांकि, इसका मतलब नियमितीकरण भी नहीं है. अभी यह देखना बाकी है कि सरकार देश में क्रिप्टोकरेंसी पर आगे किस तरह का कदम उठाने का फैसला करती है.

Also Read

डिजिटल संपत्ति के लिए कराधान की घोषणा के तुरंत बाद सीबीडीसी की घोषणा ने बहुत से लोगों को यह सोचकर भ्रमित कर दिया कि सीबीडीसी पर भी कर लगाया जाना चाहिए. हालांकि, ऐसा बिल्कुल नहीं है. डिजिटल मुद्राएं क्रिप्टोकरेंसी या एनएफटी जैसी डिजिटल संपत्ति नहीं हैं. डिजिटल मुद्राएं सरकार द्वारा जारी मुद्रा के इलेक्ट्रॉनिक रूप हैं, जबकि क्रिप्टोकरेंसी मूल्य का एक भंडार है जो एन्क्रिप्शन द्वारा सुरक्षित है. लोगों ने विशेष रूप से महामारी के दौरान जिन डिजिटल वॉलेट का उपयोग करना शुरू किया, उनमें डिजिटल मुद्रा और क्रिप्टोकरेंसी दोनों हो सकते हैं, लेकिन वे वास्तव में विनिमेय नहीं हैं.

डिजिटल मुद्रा से दो पार्टियों के बीच संपर्क रहित लेनदेन में उपयोग किया जा सकता है. जैसे आपके इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा व्यापार बैंक खाते से इलेक्ट्रॉनिक रूप से किसी और को भुगतान किया जाता है. सभी ऑनलाइन लेनदेन में डिजिटल मुद्रा शामिल होती है, एक बार जब इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा व्यापार आप उस पैसे को बैंक या एटीएम से निकाल लेते हैं, तो वह डिजिटल मुद्रा तरल नकदी में बदल जाती है.

इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा व्यापार

MyQuestionIcon

Q. With reference to Virtual Currency, which of the following statements is/are correct?

Select the correct answer using the code given below:

Q. वर्चुअल करेंसी या आभासी मुद्रा के संदर्भ में, निम्नलिखित में से कौन सा कथन सही है / हैं? नीचे दिए गए कूट का उपयोग करके सही उत्तर चुनें:

आरबीआई ने जारी की अलर्ट लिस्ट: इन 34 फॉरेक्स ट्रेडिंग ऑनलाइन प्लेटफॉर्म को अवैध घोषित किया

RBI issues alert list

RBI issues alert list

  • नई दिल्ली,
  • 11 सितंबर 2022,
  • (Updated 11 सितंबर 2022, 2:22 PM IST)

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अनाधिकृत इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म (ETPs) से विदेशी मुद्रा लेनदेन को लेकर चेतावनी दी है. आरबीआई ने उन संस्थाओं की एक 'अलर्ट लिस्ट' जारी की है. जो न तो विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999 (फेमा) के तहत विदेशी मुद्रा में सौदा करने के लिए अधिकृत हैं और न ही अपनी वेबसाइट पर विदेशी मुद्रा लेनदेन के लिए इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म संचालित करने के लिए अधिकृत हैं.

रेटिंग: 4.45
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 616